महाबलीपुरम, तमिलनाडु

Blog Single

सद्गुरु बड़े बाबा का दक्षिण भारत में आगमन: 3 जनवरी 2016 को ओशोधारा संघ, तमिलनाडु के साधक मित्रों के लिए बड़े सौभाग्य का दिन था, जब परमश्रद्धेय सद्गुरु बडे़ बाबा का महाबलीपुरम में पदार्पण हुआ। दूर-दराज से आए साधक-साधिकाओं ने बड़े श्रद्धाभाव से उनके चरण कमलों पर पुश्पवर्शा कर उनका अभिवादन किया तथा उनकी आषीश-वृश्टि में स्नान किया। दिनांक 4 से 9 जनवरी के दौरान सद्गुरु के सान्निध्य में सुरति, निरति एवं अमृत समाधि कार्यक्रमों का आयोजन हुआ। ओशो मस्तो जी, ओशो ज्ञानामृत जी, ओशो नयन जी तथा ओशो अंषु जी ने भी विभिन्न सत्रों का संचालन किया। दर्षन दरबार के दौरान सद्गुरु ने बहुत ही सरल ढंग से प्रतिभागियों की जिज्ञासाओं का निवारण किया। सद्गुरु के सान्निध्य में साधक मित्रों ने चक्रमण, गीत-संगीत तथा रिसोर्ट स्थित स्विमिंग पूल में तैरने का भी आनंद लिया। 5 जनवरी को सभी ने हर्शोल्लास के साथ सद्गुरु छोटे बाबा का संबोधि दिवस मनाया। 6 जनवरी को औलिया दिवस के पावन अवसर पर बाबा ने सद्गुरु त्रिविर की मुद्रा चिकित्सा पुस्तक के तमिल संस्करण का विमोचन किया। कार्यक्रम के दौरान 4 जनवरी को स्वामी अरविंद जी ने ज्योतिश का हमारे जीवन पर प्रभाव विशय पर जानकारी दी। 7 जनवरी को ओशो अंषु जी ने मुद्रा चिकित्सा के विज्ञान तथा विभिन्न मुद्राओं की जानकारी दी।